How to apply drone license fees digital sky platform

Drone license UIN







Remotely Piloted Aerial Systems (RPAS),जिसे ड्रोन के रूप में जाना जाता है, व्यापक अनुप्रयोगों वाले एक तकनीकी मंच हैं। अगस्त 2018 में, भारत ने भारत में आरपीएएस की सुरक्षित उड़ान को सक्षम करने के लिए अपने  Civil Aviation Regulations (CAR) की रिहाई की घोषणा की थी। कार ने आरपीएएस के सुरक्षित संचालन और एयर स्पेस के सहकारी उपयोग के लिए ऑपरेटरों, रिमोट पायलट / उपयोगकर्ता और निर्माताओं / OEM के दायित्वों का विस्तृत विवरण दिया। इसने डिजिटल स्काई प्लेटफॉर्म की भी घोषणा की, जो कि अपनी तरह का पहला ऐसा है जो कार से विचलन को कम करने के लिए सॉफ़्टवेयर-आधारित आत्म-प्रवर्तन की एक उपन्यास प्रणाली 'नो अनुमति, नो टेक-ऑफ' (NPNT) लागू करता है। नियम 1 दिसंबर से प्रभावी रूप से लागू हुए थे, जिससे उद्योग के समय को लॉन्च के लिए खुद को तैयार करने की अनुमति दी गई थी। भारत में नैनो ड्रोन आज से कानूनी रूप से उड़ना शुरू कर सकते हैं। माइक्रो और उपरोक्त श्रेणियों के लिए, ऑपरेटरों और पायलटों को डिजिटल स्काई पोर्टल पर Registration पड़ेगा।

मंच ने उपयोगकर्ताओं के पंजीकरण को स्वीकार करना शुरू कर दिया है। भारत कोष (bharatkosh.gov.in) पोर्टल के माध्यम से मानव रहित एयरियल ऑपरेटर परमिट (UAOP) और अद्वितीय पहचान संख्या (UIN) के लिए भुगतान कर सकते हैं।
 
उड़ान भरने की अनुमति पाने के लिए, आरपीएएस ऑपरेटरों या रिमोट पायलटों को एक उड़ान योजना दर्ज करनी होगी। 'ग्रीन जोन्स' में उड़ान भरने के लिए पोर्टल या ऐप के माध्यम से उड़ानों के समय और स्थान की केवल आवश्यकता होगी। 'पीले जोनों' में उड़ने के लिए अनुमतियों की आवश्यकता होगी और 'लाल क्षेत्र' में उड़ानों की अनुमति नहीं दी जाएगी। इन क्षेत्रों का स्थान जल्द ही घोषित किया जाएगा। यदि अनुमति दी गई है, तो पोर्टल पर डिजिटल रूप से उपलब्ध होगा।


डिजिटल स्काई प्लेटफार्म इस तेजी से बदलते उद्योग की विकसित आवश्यकताओं के साथ विकसित करने के लिए बनाया गया है। आने वाले महीनों में, उपयोगकर्ताओं के लिए उड़ान की प्रक्रिया को कम करने और सुरक्षा एजेंसियों को निगरानी प्रदान करने के लिए नई सुविधाएं विकसित की जाएंगी। इसके अलावा, यह अनुमान लगाया गया है कि भविष्य में डिजिटल स्काई सेवा प्रदाता (डीएसपी) आवेदन कार्यक्रम इंटरफेस (एपीआई) के माध्यम से मंच की कार्यक्षमता का विस्तार करेगा।


इस अवसर पर, भारत सरकार के नागरिक उड्डयन मंत्री श्री सुरेश प्रभु ने कहा कि "ड्रोन भविष्य का एक उद्योग है। यह भारत के लिए बहुत गर्व का विषय है कि अब हम इस उद्योग में शासन के कगार पर हैं। भारत इस क्षेत्र में नेतृत्व करेगा और आम, पैमाने पर सक्षम मानकों को विकसित करने के लिए दुनिया भर के देशों के साथ काम करेगा। इस उद्योग में मेक इन इंडिया के लिए बड़ी क्षमता है और भारत से ड्रोन और सेवाओं का निर्यात भी है।


नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री श्री जयंत सिन्हा ने कहा कि, "आज, हमने भारत में लाखों ड्रोन उड़ने के हमारे दृष्टिकोण की ओर पहला कदम उठाया है। ड्रोन एक अग्रणी तकनीक है जिसमें भारत की आर्थिक वृद्धि को छलांग लगाने की क्षमता है। यह तकनीक हमारे किसानों, रेलवे, सड़कों, बंदरगाहों, खानों और कारखानों, बीमा, फोटोग्राफी, मनोरंजन इत्यादि जैसे बुनियादी ढांचे इकाइयों को बहुत लाभ पहुंचा सकती है।"


REQUIREMENTS FOR ISSUE OF UNMANNED AIRCRAFT OPERATOR 

PERMIT (UAOP)

a. नैनो RPA 50 फिट(15m) तक ऑपरेट कर सकते हैं
b. माइक्रो RPA 200 फिट(60m) तक ऑपरेट कर सकते हैं

C) एमएचए या स्वयं से सुरक्षा मंजूरी के साथ दूरस्थ पायलटों का विवरण
तीन वैध पहचान प्रमाणों में से कम से कम दो में से प्रमाणित प्रतियां जैसे कि। पासपोर्ट,
ड्राइविंग लाइसेंस या आधार कार्ड और प्रशिक्षण रिकॉर्ड की प्रतियो की आवश्यकता होगी।


REMOTE PILOT TRAINING REQUIREMENTS 




रिमोट पायलट प्रशिक्षण आवश्यकताओं 

रिमोट पायलट ने 18 वीं वर्ष की आयु उत्तीर्ण की हो, जिसमें 10 वीं परीक्षा उत्तीर्ण की हो अंग्रेजी, और जमीन / practical training की जानकारी हो।

a) Basic Radio Telephony (RT) techniques including knowledge of radio 
frequencies. 
b) Flight Planning and ATC procedures. 
c) Regulations specific to area of operations. 
d) Basic knowledge of principles of flight and aerodynamics for fixed wing, rotary 
wing, and hybrid aircraft. 
e) Airspace Structure and Airspace Restrictions with knowledge of No Drone 
Zones 
f) Basic Aviation Meteorology.

OPERATING REQUIREMENTS संचालन आवश्यकताओं

a) Take-off/landing 
b) Collision avoidance 
c) Noise abatement 
d) Flight plan filing 
e) Local airspace restriction 
f) Right-of-way 
g) Communications 
h) RPA emergency including loss of C2 link 
i) Safe recovery of RPA through controlled airspace in case RPA system failure 
precludes the ability to remain outside controlled airspace, etc.












OPERATING RESTRICTIONS कहाँ नहीं उड़ा सकते

a) Within a distance of 5 km from the perimeter of airports at Mumbai, Delhi, 
Chennai, Kolkata, Bengaluru and Hyderabad; 
b) Within a distance of 3 km from the perimeter of any civil, private or defence 
airports, other than those mentioned in Para 13.1(a); 
c) Above the Obstacle Limitation Surfaces (OLS) or PANS-OPS surfaces, 
whichever is lower, of an operational aerodrome, specified in Ministry of Civil 
Aviation (Height Restrictions for Safeguarding of Aircraft Operations) Rules, 
2015 notified through Gazette of India notification GSR751(E) as amended from 
time to time; 
d) Within permanent or temporary Prohibited, Restricted and Danger Areas 
including TRA, and TSA, as notified in AIP; 
e) Within 25km from international border which includes Line of Control (LoC), 
Line of Actual Control (LAC) and Actual Ground Position Line (AGPL); 
f) Beyond 500 m (horizontal) into sea from coast line provided the location of 
ground station is on fixed platform over land; 
g) Within 3 km from perimeter of military installations/ facilities/ where military 
activities/ exercises are being carried out unless clearance is obtained from the 
local military installation/facility
h) Within 5 km radius from Vijay Chowk in Delhi. However, this is subject to any 
additional conditions/ restrictions imposed by local law enforcement agencies/ 
authorities in view of the security. 
i) Within 2 km from perimeter of strategic locations/ vital installations notified by 
Ministry of Home Affairs unless clearance is obtained from MHA; 
j) Within 3 km from radius of State Secretariat Complex in State Capitals; 
k) From a mobile platform such as a moving vehicle, ship or aircraft; 
l) Over eco-sensitive zones around National Parks and Wildlife Sanctuaries 
notified by Ministry of Environment, Forests and Climate Change without prior 
permission.

अधिक जानकारी के लिए डाउनलोड करे notification
For guidance manual download notification

Fees UIN/UAOP(Unmanned Aircraft Operator Permit)

For UIN: - One thousand Indian Rupees (Rs.1000/-).
For fresh UAOP:- Twenty Five Thousand Rupees (Rs.25,000/-)
For Renewal of UAOP:- Ten Thousand Rupees (Rs.10,000/-)
 यदि आप को फीस भरनी हैं तो एक बार डिजिटल स्काई प्लेटफ़ॉर्म पर रजिस्ट्रेशन कराने के बाद भारतकोश पर जा कर पे कर सकते हैं।

Who all are required to obtain UAOP किन्हें UAOP को लेना चाहिए

नीचे उल्लिखित छूट श्रेणियों के अलावा सभी ऑपरेटरों को डीजीसीए से UAOP प्राप्त करने की आवश्यकता है: -

अनियंत्रित एयरस्पेस / संलग्न परिसर में नैनो और माइक्रो श्रेणी के ऑपरेटर क्रमश: 50 फीट और 200 फीट तक

एनपीआरओ, एआरसी, और केंद्रीय खुफिया एजेंसियों द्वारा संचालित आरपीए।
UAOP 5 साल तक वैध रहता हैं
यदि आप के कोई और सवाल है तो visit करे

How to find test location टेस्ट लोकेशन कैसे देखे



Fees application registration

Also, read this 👇


Post a Comment

2 Comments

  1. Welcome To Online Shopping Lucky Winner, ELIGIBILITY FOR PARTICIPATION, If you are an individual legal resident India and are 18 or older at the time of entry, you are eligible to enter the Sweepstakes. Our employees, their immediate family members (spouses, domestic partners, parents, grandparents, siblings, children and grandchildren), and our affiliates, advisors or advertising/promotion agencies (and their immediate family members) are not eligible to enter the Sweepstakes.

    ReplyDelete
  2. Atal Pension Yojana 2019 को लागु किया गया है क्योकि Atal Pension Yojana Online की वजह से जो लोग व्यवसाय कर रहे होते है या मजदूरी पर अपना गुजरान चला रहे होते है उन्हें अपने बुढ़ापे में कोई आर्थिक तकलीफ ना हो|

    ReplyDelete

Please do not enter any site link in the comment box🚫.