Louis Pasteur and Pierre Paul Emile Roux, Rabies in hindi

Click Read in English


Rabies



Pierre Paul Émile Roux
Louis Pasteur
Louis Pasteur














World Rabies day 28th September










आज से करीब 200 साल पहले की बातें फ्रांस का एक गांव था वहां एक 9 साल के बच्चे ने एक चीख सुनी यह चीख किसी और की  नहीं बल्कि  लुईस के दोस्त निकोल की थी निकोल के शरीर में वह सारे लक्षण नजर आ रहे थे जो कि एक पागल कुत्ते के काटने के बाद नजर आते हैं। उसके बाद 1 महीने के अंदर अंदर ही निकोल की मौत हो गई। समय बीतता गया और लुईस पॉस्चर फ़्रांस के एक वैज्ञानिक बन गए  पर वो निकोल की चीखे नहीं भूल पाये तब उन्होंने फैसला किया पागल कुत्तो पर रिसर्च करने का फैसला किया इसमें इनके साथी थे Roux इनका पूरा नाम था Pierre Paul Émile Roux 

अब यह पर रिसर्च आगे बढ़ती है और कई पागल कुत्तो को पकड़ कर पिजड़े में बंद किया जाता है और उनके मुँह के झाग को इक्क्ठा किया जाता है और उसके इंजेक्शन जिस भी स्वस्थ कुत्ते को लगते थे वह भी एक महीने के अन्दर पागल हो कर मर जाते थे कई दिनों तक रिसर्च चली पर कुछ निस्कर्ष नहीं निकला पर Roux  का कहना था कि ये दिमाग पर असर करता है इसकी परख की जानी चाहिए किसी स्वस्थ कुत्ते दिमाग में इंजेक्शन लगा कर देखना चाहिए पर लुईस ने ऐसा करने से मना  कर दिया | 

अब यहाँ पर लुईस छुट्टी पर जाते है तब ही Roux एक कुत्ते के दिमाग में इंजेक्शन लगा देते है वह कुत्ता एक महीने की बजाये एक हफ्ते के भीतर ही मर जाता है जब लुईस वापस आते है तो बहुत खुश होते है कई वर्षो के बाद एक कुत्ता ठीक हो गया ऐसा कैसे हुआ ये बिल्कुल उस ही तरह है जैसे कभी हमें जुकाम होने के बाद बॉडी में  अपने आप एक इम्युनिटी बन जाती है उसी तरह उस कुत्ते में भी उस रोग के खिलाफ एंटी बॉडी बन गये थे 

अब इससे टीका बनाने की जरुरत थी और अब चार कुत्तो को रेबीज के वायरस के इंजेक्शन लगाए गये उनमे से दो को ठीक कुत्ते वाले एंटी बॉडी  के इंजेक्शन लगाए गए जिनको लगाए गए थे  वो दो कुत्ते  बच गए और जिन्हे नहीं लगाए गए वो मर गए अब इसको इंसान पर टेस्ट करने की जरुरत थी अब ऐसा करने के लिए जब कोई नहीं मिला तो लुईस ने कहा मै इस इंजेक्शन को खुद पर टेस्ट करने के लिए तैयार हूँ पर उसी दिन ख़बर आई की पास के कस्बे में एक लड़का है Joseph Meister जिसे पागल कुत्ते ने काट लिया है उसे लुईस के पास लाया गया और उस दिन तारीख थी 6 जुलाई 1885 इस दिन ही Joseph पहला इंसान था जो रेबीज़ से ठीक हुआ था इस तरह रेबीज का इलाज ढूंढा गया 













Also, click and read the articles👇



Post a Comment

0 Comments