शिक्षा कौशल का अर्थ, परिभाषा, विषेशताएँ

शिक्षा कौशल




शिक्षा कौशल का अर्थ


सभी शिक्षा शास्त्री तथा मनोवैज्ञानिक शिक्षण को कला तथा विज्ञान दोनों ही स्वीकार करते हैं यदि शिक्षण को कला स्वीकार किया जाए तो यह मानना होगा कि शिक्षक तैयार नहीं किए जा सकते वह तो जन्म से ही शिक्षक बनने की योग्यता एवं क्षमताओं से पूर्ण होते हैं समय के साथ-साथ उनकी इन योग्यताओं क्षमताओं का विकास होता है यदि शिक्षण को एक विज्ञान के रूप में स्वीकार किया जाए तो यह मानना होगा कि शिक्षक प्रशिक्षण द्वारा तैयार किए जा सकते हैं अतः जब से शिक्षण को एक कला के रूप में मान्यता प्राप्त हुई तभी से शिक्षण की प्रक्रिया को एक अतिरिक्त शिक्षा कौशल का समूह स्वीकार किया जाने लगा और विभिन्न कौशलों पर आधारित शिक्षण का विकास तथा विस्तार प्रारंभ हुआ सोच में शिक्षण में तो शिक्षण कौशल को बहुत अधिक महत्व दिया गया है और इस शिक्षण के माध्यम से शिक्षक के शिक्षण कौशल को विकसित किया जा सकता है





शिक्षा कौशल की परिभाषाएं


 एन. एल. गेज के शब्दों में, “शिक्षा कौशल विशिष्ट अनुदेशात्मक क्रियाएं व प्रक्रियाएं हैं जिन्हें शिक्षक कक्षा कक्ष में अपने शिक्षा को प्रभावशाली बनाने के लिए उपयोग करता है यह शिक्षण की विभिन्न अवस्थाओं से संबंधित होती है तथा यह शिक्षक के निरंतर प्रयोग में आती है”

डॉ. वी. के. पासी के अनुसार, “शिक्षण कौशल छात्रों के सीखने के लिए सुगमता प्रदान करने के विचार से संपन्न की गई संबंधित शिक्षण क्रियाओं या व्यवहारों का समूह है”

मैकरइन्टेयर तथा व्हाइट के अनुसार, “शिक्षण कौशल शिक्षण व्यवहार से संबंधित वह स्वरूप है जो कक्षा की अंतः प्रक्रिया द्वारा उन विशिष्ट परिस्थितियों को जन्म देता है जो शैक्षिक उद्देश्यों की प्राप्ति में सहायक होती हैं और छात्रों को सीखने में सुगमता प्रदान करती हैं”





 शिक्षण कौशल की विशेषताएं



  1. शिक्षण कौशल कार्य कुशलता में वृद्धि करते हैं जिससे उन्हें शैक्षिक उद्देश्यों को प्राप्त करने की दिशा में सहायता मिलती है और वह सरलता से शैक्षिक उद्देश्यों को प्राप्त कर पाते हैं
  2. प्रत्येक शिक्षण कौशल शिक्षण कार्य का संकेतक होता है अन्य शब्दों में शिक्षण कौशल शिक्षण कार्यों के किसी विशिष्ट प्रतिमान की ओर संकेत करता है और वह संकेत वांछित परिणामों को प्राप्त करने के लिए होता है
  3. शिक्षकों द्वारा शिक्षण कौशल के आयोजन से पता चलता है कि शिक्षक शिक्षण कौशल क्रिया के संपादन में कितने सजग और जागरूक हैं
  4. शिक्षण कौशल शिक्षण प्रक्रियाओं तथा व्यवहार से संबंधित है
  5. शिक्षण कौशल कक्षा शिक्षण व्यवहार की इकाई से संबंधित होता है
  6. शिक्षा कौशल शिक्षा प्रक्रिया को प्रभावशाली बनाने की विधि है
  7. शिक्षा कौशल शिक्षा में विशिष्ट लक्ष्यों की प्राप्ति में सहायक होता है
  8. शिक्षण कौशल समस्त अंतः क्रियाओं को सक्रिय करता है
  9. शिक्षण कौशल छात्रों के व्यवहारों में संशोधन करने में सहायक सिद्ध होते हैं प्रत्येक शिक्षण कौशल को देखना, सुनना, महसूस किया जा सकता है
  10. शिक्षा कौशल स्पष्ट चिंतन, छात्रों की रुचि, कार्यशैली का विकास, बुद्धि का विकास एवं व्यक्तिगत संतुलन को विकसित करने में सहायक सिद्ध होते हैं





 शिक्षण कौशल के प्रकार



  1. खोजक प्रश्न कौशल
  2. प्रस्तावना कौशल
  3.  पुनर्बलन कौशल
  4. श्यामपट्ट लेखन कौशल
  5. स्पष्टीकरण का कौशल
  6. उद्दीपन परिवर्तन कौशल
  7.  दृष्टांत कौशल



Post a Comment

0 Comments