-->

लक्ष्य तथा उद्देश्य में अंतर

लक्ष्य तथा उद्देश्य में अंतर








लक्ष्य
उद्देश्य
यह पूरे राष्ट्र तथा समाज की प्रकृति को देखकर निर्धारित किए जाते हैं और इनकी पूर्ति की जिम्मेदारी समाज के सभी व्यक्तियों विद्यालयों तथा पूरे राष्ट्र पर होती है
यह लक्ष्य के अनुसार निर्धारित किए जाते हैं तथा इन्हें शिक्षक निर्धारित करते हैं वह प्राप्त करते हैं
यह समग्र विषय तथा शिक्षा व्यवस्था से संबंधित होते हैं
यह उप विषय तथा विभिन्न प्रकरणों से संबंधित होते हैं
यह इस प्रश्न का उत्तर होते हैं कि कोई विषय क्यों पढ़ाया जाना चाहिए
यह इस प्रश्न का उत्तर होते हैं कि किसी पाठ प्रकरण की समाप्ति पर क्या प्राप्त किया जा सकेगा
यह समस्त शिक्षा व्यवस्था को दिशा प्रदान करते हैं
यह किसी लक्ष्य की प्राप्ति के लिए छोटे-छोटे भागों में बैठे होते हैं जो किसी निश्चित बिंदु को दिशा देते हैं
यह अनिश्चित तथा अस्पष्ट होते हैं
यह निश्चित, स्पष्ट तथा संगत होते हैं
यह एक प्रकार के आदर्श होते हैं जिन्हें पूर्ण रूप से प्राप्त नहीं किया जा सकता
इन्हें पाठ की समाप्ति के पश्चात प्राप्त किया जा सकता है
इनकी प्राप्ति में बहुत धन तथा अधिक समय लगता है
यह पाठ की समाप्ति के पश्चात तथा अल्पव्यय करने पर ही प्राप्त होते हैं
इनका क्षेत्र व्यापक होता है
इनका क्षेत्र विशिष्ट व सीमित होता है
यह अप्रत्यक्ष होते हैं
यह प्रत्यक्ष होते हैं
यह औपचारिक होते हैं
यह व्यवहारिक होते हैं
इन्हें देश की सामाजिक, राजनीतिक व धार्मिक पृष्ठभूमि के अनुसार निर्धारित किया जा सकता है
निश्चित कार्यक्रम के अंतर्गत निर्धारित किए जाते हैं
इनका मुख्य आधार दार्शनिक होता है
इनका मुख्य आधार मनोवैज्ञानिक होता है
यह संपूर्ण जनसंख्या के लिए बनाए जाते हैं
यह आदर्श अथवा नमूने के लिए बनाए जाते हैं
यह शैक्षिक होते हैं
यह अनुदेशात्मक होते हैं
यह परिवर्तनशील होते हैं
यह प्रकरण पाठ के अनुसार होते हैं
यह शिक्षण की नीतियों तथा मूल्यांकन के लिए स्पष्ट निर्देशन प्रदान नहीं करते
यह स्पष्ट निर्देश प्रदान करते हैं






All Notes 📚📙🕮📘📗📖📕

Study Material All Posts 📖🕮📚📑📕📗📙

Post a Comment

0 Comments