स्मार्ट क्लास अर्थ, उपयोग, स्वरूप, सीमाएं

 स्मार्ट क्लास का अर्थ





स्मार्ट क्लास शिक्षण की एक नवीन संकल्पना है जिसमें ई लर्निंग सामग्री द्वारा छात्रों को अधिगम का अनुभव कराया जाता है आज जिस तरह से आधुनिकता आसमान की ऊंचाई को छू रही है उसी आधुनिकता की सोच के लिए शिक्षा के क्षेत्र में स्मार्ट क्लास में भी शिक्षा प्रणाली की तस्वीर बदल के रख दी है आज हम सभी देख रहे हैं कि देश के कई विद्यालय, कॉलेजों में ब्लैक बोर्ड के स्थान पर प्रोजेक्टर लग गए हैं स्मार्ट क्लास में विभिन्न विषयों से संबंधित प्रकरण को अच्छी तरह समझाने के लिए इंटरनेट से अधिगम सामग्री को डाउनलोड कर चित्र एवं वीडियो द्वारा एक स्क्रीन पर दिखाया जाता है

स्मार्ट क्लास में शिक्षक मल्टीमीडिया अधिगम सामग्री द्वारा विद्यार्थियों को प्रभावी अधिगम अनुभव प्रदान करता है इस विधि से शिक्षण करने से छात्रों की एकाग्रता बढ़ती है और अधिक अधिगम प्रभावशाली होता है





स्मार्ट क्लास का स्वरूप


स्मार्ट क्लास में कंप्यूटर तथा इंटरनेट आवश्यक होता है स्मार्ट क्लास में एक डीवीडी प्लेयर तथा एलसीडी प्रोजेक्टर छत में इस प्रकार जुड़ा रहता है जिससे उसके द्वारा वाइट बोर्ड पर चित्र को प्रोजेक्ट किया जा सके आजकल बाजार में अनेक ऐसे सॉफ्टवेयर उपलब्ध है जो प्रत्येक कक्षा के पाठ्यक्रम  के सभी विषयों के विभिन्न प्रकरणों से संबंधित चित्र वीडियो तथा ग्राफ़िक्स इत्यादि को एक साथ एक स्थान पर एकत्र कर उसे एक सीडी का रूप में प्रयुक्त कर देते हैं  शिक्षक यदि तकनीक का ज्ञान रखता है तो वह इस सीडी के द्वारा छात्रों को आसानी से ज्ञान प्रदान कर सकता है






 स्मार्ट क्लास के उपयोग


  1. स्मार्ट क्लास में बच्चों को चित्रों के माध्यम से पढ़ाया और समझाया जाता है जिससे कि वे बच्चे किसी भी चीज को बहुत ही कम समय में समझ लेते हैं और इस तरह से कठिन से कठिन अध्ययन भी सरल लगने लगता है 
  2. शिक्षक इंटरनेट पर प्रसारित होने वाले लेखों से प्राप्त होने वाली जानकारी का उपयोग कर बहुत ही रोचक तरीके से छात्रों के सामने प्रस्तुति दे सकते हैं 
  3. स्मार्ट क्लास का सबसे अच्छा उपयोग यह है कि शिक्षक कक्षा में उपस्थित सभी छात्रों की डिजिटल डिटेल रख सकते हैं तथा उनके उपस्थिति और अनुपस्थिति का भी प्रमाण डिजिटल डिवाइसों के माध्यम से शिक्षकों तक उपलब्ध रहता है 
  4. स्मार्ट क्लास में शिक्षक विद्यार्थियों को डिजिटल डिवाइसों के माध्यम से एनिमेशन, चित्र, वीडियो आदि को दिखाकर कोई जटिल से जटिल आकृति के बारे में समझा सकते हैं





 स्मार्ट क्लास की सीमाएं 


  1. स्मार्ट क्लास का प्रबंधन काफी खर्चीला होता है 
  2. शिक्षक का तकनीकी व इंटरनेट का ज्ञान होना आवश्यक है 
  3. विद्यालय में प्रत्येक कक्ष में इसे लगाना काफी खर्चीला है सामान्यता इसे एक ही कक्षा में लगाया जाता है अतः सभी छात्रों को इस में पढ़ाना संभव नहीं हो पाता

Post a Comment

0 Comments